रविवार, 22 मार्च 2009

राजनीति में नगमा

गोरे-गोरे मुखड़े पे

काला-काला चश्मा

जंगे-सियासत में आई है

करने कोई करिश्मा

 

ये छेड़ेगी कोई तराना

या नगमा कोई गुनगुनायेगी

दादा को करके क्लीन-बोल्ड

अब किसके विकेट गिराएगी??

 

विरोधियों, अपनी पिच संभालो

कंधे से कन्धा मिलालो

भरदो इसकी झोली वोटों से

वरना जमानत अपनी जब्त करा लो

2 टिप्‍पणियां:

  1. वोटों की खींचने को
    की गई प्रीत है
    इस प्रीत में ही
    छिपी हुई जीत है
    कौन हारेगा
    किससे हारेगा
    परिणाम निकलेगा
    स्थिति स्‍पष्‍ट हो जाएगी।

    उत्तर देंहटाएं