रविवार, 10 अक्तूबर 2010

साठ की उम्र में माँ बनना और सास - बहू संवाद......

साठ की उम्र में माँ बनना  और सास - बहू संवाद......
 
किया है  तूने मुझे ज़िंदगी भर तंग
जी भर के अब बदले चुकाउंगी | 
दादी और नानी तो मैं पहले  ही से थी
माँ बन के तुझको फिर से दिखाउंगी |
डाल के तेरी गोद में ननद और देवर
क्लब और पार्टियों में मौज उड़ाउंगी |
 
कहा था मैंने एक दिन जब बहू !
हो गया है मुझको तो गठिया
तूने कहा था पागल तो पहले ही से थी
अब गई हो पूरी की पूरी  सठिया
 देख लेना जी भर के अब
 शुगर और बी. पी. तेरा. कैसे मैं बढ़ाउंगी |
 
सोचा था तूने इकलौती हूँ बहू
जायदाद का मज़ा अकेले ही उड़ाउंगी |
अभी तो हूँ बहूरानी! साठ ही की 
सत्तर पे आउंगी तो लाइन लगाउंगी |  
 
रात भर करती हो चेटिंग
दिन भर भेजो तुम स्क्रेप |
तेरी उन सेटिंगों में
सेंध अब लगाउंगी |
तेरे बॉय फ्रेंडों को पटाकर 
हालत पे तेरी एक ब्लॉग मैं बनाउंगी |
 
 

25 टिप्‍पणियां:

  1. यह तो बहुत मजेदार कविता है...मम्मा ने पढ़कर सुनाई..खूब हंसी मैं. आप 'पाखी की दुनिया' में भी आइयेगा....अच्छा लगेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  2. व्यंग्य और हास्य समाज की टटका प्रवृत्तियों पर हों तो रचनात्मकता ने नए आयाम भी जुड़ते हैं और रस भी मिलता है।
    बिन्दास! मुझे यह काव्य जमा।

    उत्तर देंहटाएं
  3. रात भर करती हो चेटिंग
    दिन भर भेजो तुम स्क्रेप |
    तेरी उन सेटिंगों में
    सेंध अब लगाउंगी |
    तेरे बॉय फ्रेंडों को पटाकर
    हालत पे तेरी एक ब्लॉग मैं बनाउंगी |
    ....... वाह यही है 'tit for tat'
    बहुत अच्छी कुछ सोचने बाद गुदगुदाने वाली प्रस्तुति ....
    आपको और आपके परिवार को नवरात्र के बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  4. बाप रे बाप !

    बहुत लम्बी चौड़ी प्लानिंग है...............हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  5. सेंध तक तो ठीक है पर यह माँ बनना ...बहुत मुश्किल है जी :):)

    बढ़िया व्यंग

    उत्तर देंहटाएं
  6. रात भर करती हो चेटिंग
    दिन भर भेजो तुम स्क्रेप |
    तेरी उन सेटिंगों में
    सेंध अब लगाउंगी |
    तेरे बॉय फ्रेंडों को पटाकर
    हालत पे तेरी एक ब्लॉग मैं बनाउंगी |
    हहाहाहाहा.... क्या बात है शेफ़ाली जी मज़ा आ गया.

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे वाह, बहुत खूब... मज़ा आ गया ....हँसते हँसते पेट में बल पड़ गए हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  8. ha.ha.ha....boyfriends ko pata kar kitno ki line aur lagani hai ji?????

    majedaar rachna.mind blowing.:):):)

    उत्तर देंहटाएं
  9. रात भर करती हो चेटिंग
    दिन भर भेजो तुम स्क्रेप |
    तेरी उन सेटिंगों में
    सेंध अब लगाउंगी |
    तेरे बॉय फ्रेंडों को पटाकर
    हालत पे तेरी एक ब्लॉग मैं बनाउंगी |
    :) :) bahut khoob.... majedar hai yeh plan to

    उत्तर देंहटाएं
  10. आजकल का तो पता नहीं लेकिन आज से तीस साल पहले ऐसा होते ज़रूर देखा है ...मेरी मौसी जी और उनकी बहु दोनों ने लगभग एक ही साथ पुत्रियों को जन्म दिया था :-)...

    सुन्दर मनोरंजक रचना

    उत्तर देंहटाएं
  11. बड़े खतरनाक तेवर हैं सास के...ऐसा बदला...जाने कौन कौन सेंध में धरा जाये.. :)


    बहुत शानदार!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. कहाँ कहाँ पहुँच जाती हो पता नहीं :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. --------------------------------------
    सासू जी के इन गरम शोलों के जवाब में
    बहू जी के ice cubes --

    " न रुतबा कम हुआ होता ,
    न कुछ भी घट गया होता |
    जो गुस्से में कहा तुमने ,
    वो हँस कर के कहा होता | "
    ___________________________________

    उत्तर देंहटाएं
  14. ्हा हा हा …………मज़ा आ गया………………बहुत सुन्दर्।

    उत्तर देंहटाएं
  15. वाह वाह मजा आ गया जी......क्या क्या सोच लेती हें आप। बधाई। सादर...उमेश यादव

    उत्तर देंहटाएं