शनिवार, 12 नवंबर 2011

कौन बनेगा करोड़पति के अगले सीज़न की तैयारी कर ली है ....कितना जीत सकती हूँ बताइए ?

 
आजकल टेली विज़न  पर करोडपति बनने और बनाने का मौसम छाया हुआ है | शो ख़त्म होने को है और लगातार एक के बाद एक करोडपति बने जा रहे हैं  और मैं आँख फाड़े - फाड़े देखती जा रही हूँ | इस मौसम में तो मेरा भाग लेना संभव नहीं हो पाया पर अगले मौसम के लिए मैंने अभी से तैयारियां  शुरू कर दी हैं | शो में भाग लेना कोई हँसी खेल तो है नहीं | सालों लग जाते हैं ढंग की तैयारी  करने में | प्रतिभागियों को देख - देख कर शो की कुछ तैयारियां मैंने कर ली हैं जो इस प्रकार हैं -
 
मैंने याद कर ली है बच्चन खानदान की वंशावली | वैसे बता दूँ की अपनी वंशावली मुझे कभी याद नहीं हो पाई | यहाँ तक कि अपने निकट के सम्बन्धियों के अलावा  मुझे कोई रिश्ता याद नहीं हो पाया, ना ही मैंने इसको समझने की झंझट उठाई  | रिश्तों से सम्बंधित इस तरह के प्रश्न जब भी किसी प्रतियोगी परीक्षा में देखे, फ़ौरन उन्हें छोड़ कर आगे बढ़ गयी | थोड़ी दूर के समस्त  रिश्ते - नाते मेरे लिए ज़िंदगी भर अंकल,  आंटी और कज़िन  बने रहे |
 
 मैंने कंठस्थ कर ली है पूज्य हरिवंश राय जी एवं तेजी  बच्चन जी की जन्म और  मृत्यु  की तिथि  | हरिवंश राय जी की समस्त कृतियों के नाम |  पूरी की पूरी मधुशाला, वह भी तर्ज में | इसके अलावा उनकी कई अन्य प्रसिद्द कविताएँ | इनमे से कई कवितायेँ स्कूल के समय में मेरी किताबों में भी थीं, जिन्हें मैं कवि का नाम पहचान नहीं पाने के कारण  परीक्षा में सदा छोड़ दिया करती थी  |
 
मैंने याद कर लिया है ----
 
सामान्य ज्ञान के अंतर्गत  अमिताभ बच्चन की सभी सफल फिल्मों के नाम | कुछ प्रसिद्द डायलॉग, उन्हीं के अंदाज़ में | अभिषेक, जया ,ऐश्वर्या  की समस्त फिल्मों के नाम  | उनके गाए हुए सभी गाने, जिन्हें गाने की जिद मैं अमित जी से हॉट सीट पर बैठकर करूंगी | वे लाख  मना करते रहेंगे, लेकिन मैं दो लाइनें सुने बगैर किसी भी हाल में नहीं मानूंगी | मैं ना उनका स्वास्थ्य  देखूंगी ना उम्र ना उनकी इच्छा | वे लाख कहते रहें कि उन्हें याद नहीं है लेकिन मुझे यह पक्का यकीन होगा कि उन्हें अपनी सारी फिल्मों  के सभी डायलॉग  और गाने कंठस्थ हैं और वे बहाना कर रहे हैं | 
 
मैंने बना ली है बच्चन चालीसा | अमिताभ स्तुति |  कुछ कविताएँ | चंद फुटकर शेर |  जिनका मैं  हॉट सीट में बैठकर सस्वर वाचन  करूंगी  | मैंने रिसर्च  कर ली है, उनकी ज़िंदगी की सभी बड़ी और छोटी घटनाओं के विषय में | हर प्रश्न के उत्तर के साथ मैं इन घटनाओं को ज़रूर सुनाउंगी, जिससे की अमिताभ चमत्कृत हो जाएँगे |  
 
मैं भूल गई हूँ, उपरोक्त परिवार  की  असफल और गुमनाम फिल्मों के नाम, उन फिल्मों को भी जिन्हें   देखकर सिनेमा हॉल  के मालिक से पैसे वापिस लेने की बात पर युद्ध तक की नौबत आ गई थी, या कभी इंटरवल पर उठ कर डायरेक्टर, प्रोड्यूसर समेत बच्चन खानदान को  गाली देते हुए लौट आए थे |
 
मैं भूल जाना चाहती हूँ   महात्मा गाँधी, बोस, पटेल, शास्त्री समेत  देश के कई  असली नायकों को |  मेरी नज़र में इस दुनिया में कोई नायक हुआ है तो वो सिर्फ़ अमिताभ बच्चन |

मैंने रट लिए हैं कुछ अंग्रेज़ी वाक्य | यह जानते हुए भी कि अमिताभ शो में सिर्फ़ शुद्ध हिन्दी बोलते हैं, मैं यथासंभव अपना अंग्रेज़ी ज्ञान बघारने का प्रयत्न करूंगी | उनके हिन्दी में पूछे गए सवाल का उत्तर सिर्फ़ अंग्रेज़ी में दूंगी |  फोन ए फ्रेंड के अंतर्गत मैंने उन लोगों का नाम शामिल किया है, जो चाहे किसी भी प्रश्न का उत्तर ना जाते हों, लकिन अमिताभ जी के  भूत, भविष्य और वर्तमान की जानकारी रखते हों, और उनके सबसे बड़े फैन  होने का दावा करते हों |
 
मैंने ताकीद दे दी है अपने पति को जिन्हें मैं अपने साथ लेकर जाउंगी कि वे अमिताभ जी की शान में चंद वाक्य रट लें ,  उनकी तरफ कैमरा आते ही वे बोलना शुरू हो जाएँ हो सके  तो उन्हें बताएं कि हमारे घर में बातें होती हैं तो सिर्फ अमिताभ बच्चन और उनके खानदान की | फ़िल्में देखी जाती हैं  तो सिर्फ़ और सिर्फ़ बच्चन परिवार की  | विज्ञापन देखते हैं तो बस इसी परिवार के | प्रोडक्ट खरीदते हैं तो सिर्फ़ वही जो यह खानदान बताता है |
 
मैंने शुरू कर दी है अभी से पैर छूने की कोशिश  | अपने माता - पिता  के चरण जिन्हें जब से होश संभाला है, तब से  स्पर्श नहीं किये | भला  हो इस शो का जिसने मुझे फिर से यह अवसर प्रदान किया | ये अलग बात है कि माता - पिता अमिताभ जी की तरह हमें चरण स्पर्श करने से रोकते  नहीं हैं , बल्कि खुशी - खुशी आगे बढ़ा देते हैं | उन्हें लगता होगा कि क्या पता कि ऐसा  दुर्लभ अवसर दोबारा आए ना आए | 
 
मैंने याद कर लिए हैं महान शब्द के पर्यायवाची | हर प्रश्न पर अमिताभ जी की तारीफ में कुछ ना कुछ  शब्द जड़ दूंगी | प्रश्न का उत्तर आए ना आए, उनकी तारीफ में शब्दों की कमी नहीं पड़नी चाहिए | 
 
मैंने हिदायत दे दी है अभी से अपने घरवालों, रिश्तेदारों, मित्रों  और सभी सम्बन्धियों को , कि आज और इसी वक्त से  अमिताभ बच्चन को अपना प्रिय अभिनेता घोषित कर दें | घर में महंगाई, बजट, भ्रष्टाचार को छोड़कर  सिर्फ़ बच्चन खानदान और उनकी फिल्मों की चर्चा होनी चाहिए |  यह जानते हुए भी कि इनाम की राशि चैनल देता है और अमिताभ बच्चन सिर्फ़ इस कार्यक्रम को प्रस्तुत करते हैं और इसकी एवज में मोटा पैसा लेते हैं | 
 
मैं भरसक प्रयास कर रही हूँ अपनी ज़िंदगी के सभी पीले हो चुके पन्नों को पलटने का, जिनका दूर - दूर तक अमिताभ बच्चन से कोई सम्बन्ध नहीं है  | मेरी ज़िंदगी का कोई भी पल अमिताभ जी को बताने से छूट ना जाए | मेरा यह मानना है कि उनके पास ही वह  जादू की छड़ी है, जिससे मेरी सारी तकलीफें दूर हो सकती हैं  ,जिसे मनमोहन सिंह सरकार  सँभालने के अगले ही दिन से ढूंढ रहे हैं  
 
यह जानते हुए कि  हर आम आदमी को अपनी ज़िन्दगी में जी तोड़  संघर्ष करना पड़ता है, यहाँ तक कि स्वयं अमिताभ बच्चन और उनके पिता ने भी अपनी ज़िंदगी में कठोर संघर्ष किया है,  मैं अपने संघर्षों की गाथा को अत्यंत मार्मिक अंदाज़  में प्रस्तुत करूंगी | मेरा यह पूरा प्रयास रहेगा कि अमिताभ जी को अपनी संघर्ष गाथा सुनाते समय मेरे साथ - साथ टी . वी. पर शो देख रही जनता की भी  आँखों में आँसू अवश्य आ जाएँ |
 
 

35 टिप्‍पणियां:

  1. हम्म
    अब पता चला कि इस प्रोग्राम में यह सब चलता ही रहता होगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत लाजवाब पोस्ट...आपने तो के.बी.सी जी की बखिया उधेड़ दी है...वाह

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  3. शेफाली जी आपकी तैयारी सही दिशा में चल रही है :):)

    उत्तर देंहटाएं
  4. सही तैयारीयां है...जरुर जीतोगी...पर हमें याद रखना जीतने के बाद :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  6. इसे कहते हैं झाडू पछाड ..मा स्साब कौनो कोना तो छोड देते बिग बी के लिए , चारों कोना में दौडा दौडा के रगेद रगेद के धोया आपने ..हायं

    उत्तर देंहटाएं
  7. फ़ोन ए फ्रेंड में हमारा नाम दे दीजियेगा :)
    स्टाईलिश व्यंग्य !

    उत्तर देंहटाएं
  8. चलिये आपने एक आइडिया मुझको भी दे ही दिया ...सोच रहा हूँ मैं भी तैयारी में जुट जाऊँ । :)))

    गजब का लिखा है आपने।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  9. तरकश से निकला है ऐसा तीर जनता का ध्यान देश की दुर्दशाओं से हटाने के लिये जब बुद्धू-बक्से का हो हाथ, तो कैसे बह सकता है नयनों से नीर!……करारा व्यंग्य। बधाई एवम आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत सुन्दर लिखा है सत्य के साथ.....

    उत्तर देंहटाएं
  11. अच्छी तैयारी है,
    अब प्रार्थना कीजिए बिग का फोन जल्दी आए

    उत्तर देंहटाएं
  12. हमारी जर्जर मानसिकता का,कच्चा चिट्ठा.सटीक आलेख

    उत्तर देंहटाएं
  13. स्तुत्य प्रयास है आपका. आपकी तर्ज पर मैंने भी थोड़ी तैयारी कर ली है. हो सके तो फोन अ फ्रेंड में आप मेरा नाम दे दें, मैं तो आपका नाम दूंगा ही.
    लाजवाब करार और तीक्ष्ण कटाक्ष ....

    उत्तर देंहटाएं
  14. .
    .
    .
    बढ़िया है,

    अब अगले साल पाँच करोड़ आप ही जीतेंगी, माला पहनाने हम भी आयेंगे पंतनगर हवाई अड्डे पर... :)



    ...

    उत्तर देंहटाएं
  15. शालिनी प्लीज एक बार अमिताभ जी मेरा नाम लेकर हाय जरूर बुलबा देना, मेरा जीवन भी धन्य हो जायेगा.

    मजेदार.

    उत्तर देंहटाएं
  16. इन मित्रों का नाम भी ले लीजियेगा और मेरा सबसे पहले...और कुछ कृपा का प्रसाद इधर भी हम भी वहीँ जाने की सोचते रहते हैं.... बहुत ही सुन्दर रचना हकीकत लिख दी आपने जिंदगी और ग्लैमर की वास्तविकता से दूर भागते लोगों की |
    बहुत ही सुन्दर रचना!

    उत्तर देंहटाएं
  17. शेफाली जी आपकी बातों में बहुत बहुत दम है
    तभी तो सुनीता जी की हलचल से यहाँ चले आये हम है.
    सचमुच 'टेबलेट पीसी' की तैय्यारी है आपकी.

    मेरे ब्लॉग पर आप यदि जल्दी से आयेंगीं
    'नाम जप' का अभेद कवच पा जायेंगीं.

    फिर मजाल है किसी की कि आपको कोई 'कौन बने करोड
    पति' के मच पर जाने से रोक ले.

    उत्तर देंहटाएं
  18. You are a nut. The satire is sweet but have mercy on Amitji.

    उत्तर देंहटाएं
  19. शेफाली जी अभिवादन अभी बच्चों द्वारा रायबरेली में छपे आप के आलेख से आप के बारे में जानकारी मिली और हम भी सौभाग्य वश आप से जुड़ गये और कविता कहानी से गुजर आप के व्यंग्य वाण तक पहुँच गए ..
    ढेर सारी शुभ कामनाएं इस बार पञ्च की जगह दस करोडपति हो आप बच्चन चालीसा पढ़ पढ़ सब जीत आ यहाँ कुछ लुटाएं ...
    भ्रमर ५
    भ्रमर का दर्द और दर्पण में आप का स्वागत है अपना सुझाव समर्थन भी दें
    अगले मौसम के लिए मैंने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं | शो में भाग लेना कोई हँसी खेल तो है नहीं | सालों लग जाते हैं ढंग की तैयारी करने में | प्रतिभागियों को देख - देख कर शो की कुछ तैयारियां मैंने कर ली हैं

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत अच्छा लिख रही हैं आप. आज दैनिक जागरण के झंकार परिशिष्ट में छपे आलेख से आप के ब्लॉग कि जानकारी मिली. अब नियमित देखूंगा .
    मेरे ब्लॉग का पता : http://ajayekal.blogspot.com
    है यदि आप देख कर अपना मत दे तो बहुत अच्छा लगेगा.
    अजय सिंह "एकल"

    उत्तर देंहटाएं
  21. aapki tippani achchhi hai,asafalta ke bina safalta nahin milti hai.Amitabh asafal hue hai par usse kahin adhik safal hue hai.

    उत्तर देंहटाएं
  22. aapke bare main dainik jagran main pada. kuchh or janje kee khwais rakhata hu. puran

    उत्तर देंहटाएं
  23. aapakaa blog pahalee baar dekhaa, vaakai aapakee lekhanee ki dhaar adabhut hai, aashaa karataa hoon ki kai aur jwalant muddon par bhee aapakee teekhee vichaar-dhaaraa se saraabor hone ka maukaa milega - BADHAAEE
    Rajat

    उत्तर देंहटाएं
  24. Hi,

    My Name is SUDHIR YADAV, recently I visited one website which is providing lots of home jobs. When I visited the website i found it very genuine and convincing and great support. Currently I m working with them and earning a nice regular income. I'm sure you are going to like it to. Please find below its details -

    World's Highest Returns on Investment - MaxMoney. Get Paid upto 1080% (Daily 3% Interest) returns annually on your investment amount (Refundable). Fixed Deposit at bank will only pay at the most 9% returns annually. Change Your Way of Living Now with MaxMoney Investment.

    http://www.dataentryjobs.us/61568-9-5-10.html

    उत्तर देंहटाएं