मंगलवार, 2 जून 2009

एक अभिनेत्री का बेबाक इंटरव्यू

साथियों ....जब भी मैं अखबार में या टेलिविज़न में फिल्मी अभिनेत्रियों के इंटरव्यू पढ़ती या देखती हूँ , मुझे बहुत हंसी आती है ,कोई भी अभिनेत्री अपने मन की बात खुले दिल से नहीं कह पाती है , साथियों, अगर वो अपने मन की बात खुले दिल से कह पाती तो जो इंटरव्यू सामने आता वो इस प्रकार होता .....

प्रश्न .............

हिट फिल्म नहीं एक भी

खाते में आपके

फ्लॉप ही फ्लॉप का डेरा है

उत्तर ......

फर्क नहीं पड़ता मुझको

खाते में मेरे .

पैसा लेकिन पूरा है

और

पूरी मेहनत से मैंने

अपना काम किया

शूटिंग हो सुबह तो

जाने में शाम किया

प्रोड्यूसर , डाइरेक्टर

की तुम बात ही छोड़ो

सारी यूनिट का

चैन हराम किया .

प्रश्न ..................

कैसे है त्वचा आपकी

आज भी इतनी मदभरी

उत्तर .....

विदेश जाती दो बार साल में

करवाती हूँ सर्जरी

एक भी अंग नहीं ओरिजनल

सब पर है प्लास्टिक चढ़ी

प्रश्न .....................

इतनी दुबली पतली काया

है यह कैसी माया

छिपा है इसके पीछे जो राज़

बतला भी दो आज

क्या पसंद है खाने में

किस चीज़ पे करती हो एतराज़ ?

उत्तर ...............................

करना बस तुम एक ही काम

खाने का मेरे सामने

कभी ना लेना नाम

टपकने लगती है मेरी लार

जीना लगता है बेकार

दिन रात हवा को

सूँघा करती हूँ

जिंदा हूँ मैं पानी पर

खाना खाए मुद्दत हो गयी

फल फूल रहा नौकरानी का घर

प्रश्न .................................

टिकी हुईं हैं इंडस्ट्री में

है क्या कोई गोडफादर ?

उत्तर ...............................

कुछ डॉग जैसे लोगों को

सुबह शाम कहा फादर

टिकी हुई हूँ इसीलिए बिरादर

प्रश्न .......................................

जो बाद आपके आईं थीं

आगे आगे चलीं गईं

आप नंबर एक से सीधे

लाइन में पीछे आ गईं

उत्तर ...............................

नंबर की इस दौड़ में

मुझे तनिक नहीं विश्वास

सबसे हटके हूँ जनाब

हर अदा है मेरी ख़ास

जितने बॉय फ्रेंड थे उनके

सबके सब हैं मेरे पास

प्रश्न ...............................

सुना है आजकल अफेअर आपका

चिंटू के साथ है

उत्तर .....................

ये बिल्कुल झूठी बात है

बस अच्छे दोस्त हैं हम

जो रहते साथ हैं

साथ रहने में बन्धु

सुविधा ही सुविधा

जितने भी आते हैं घर में बिल

कर लेते हैं आधा आधा
प्रश्न ...............................
अंग प्रदर्शन के बारे में
क्या है आपका ख्याल ?
उत्तर .............................
फिर पूछा तुमने
बेहूदा सा सवाल
एक लिमिट के बाहर
जा कभी ना पाउंगी
जब मारूंगी मक्खी मच्छर
तब इस बयान से मुकर जाउंगी
प्रश्न ..........................................

अंतिम सवाल है आखिरकार

हो गईं हैं पैंतीस के पार

कब बजेगी शहनाई आपके द्वार

और

कब बसेगा आपका घर- बार
उत्तर .................................

पूछ रहे हो ऐसा सवाल

बड़े बेवकूफ हो पत्रकार

सारी दुनिया देख रही है

बस तुमको ही नहीं दिखता

ऐसे प्रश्नों से बचाए खुदा

शादी की ज़रुरत क्यूँ हो उसको

जो बिन शादी के हो शादीशुदा ........................

18 टिप्‍पणियां:

  1. सधे प्रश्नों के असली से जवाब । शानदार प्रविष्टि । आनन्द आ गया ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सहज व सामयिक हास्य.... व्यंग्यधारा साथ लिये... बधाई.. अच्छा.. आपकी समस्या हल हो गयी या नहीं...?

    उत्तर देंहटाएं
  3. waah ladki.....kya baind bajaayee hai heroins kee...shefaali jee andaaj aur kavitaa dono hee pasand aayee...

    उत्तर देंहटाएं
  4. व्यंग्य अच्छा लगा।
    अभिनेत्री का नाम भी बता दें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत जबरदस्त रहा साक्षात्कार।
    यदि प्रश्न और उत्त्तरों का रंग बदल दिया जाता, तो पढने में सुविधा होती।
    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाकई लाजवाब व्यंग. बहुत आनन्द आया पढकर.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  7. या-या, यू नो, आई थिंक…, बट… आदि शब्दों को शामिल नहीं किया आपने इंटरव्यू में? :) :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. लाजवाब इंटरब्यू,आप इन सवालों को किसी फिल्मी पत्रकार को दे दीजिये .

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत खूब, पढ़कर दिल खुश हो गया.पर क्या करें ना तो पत्रकार इतने बे-बाक होते है और ना तो अभिनेत्रियाँ.
    _____________________
    विश्व पर्यावरण दिवस(५ जून) पर "शब्द-सृजन की ओर" पर मेरी कविता "ई- पार्क" का आनंद उठायें और अपनी प्रतिक्रिया से अवगत कराएँ !!

    उत्तर देंहटाएं