सोमवार, 3 अगस्त 2009

स्वयंवर के पश्चात राखी का एक्सक्लूसिव इंटरवियू.....

साथियों ...स्वयंवर  के पश्चात राखी का एक्सक्लूसिव इंटरवियू.....सिर्फ इसी चैनल पर ........
प्रश्न ......राखी जी , कई लोग चैनेल पर फोन करके कह रहे हैं कि जबसे उन्होंने इलेश की आर्थिक स्थिति के बारे में जाना  , वे समझ गए थे कि आप इलेश से ही शादी करेंगी .कई लोगों ने इस  भविष्यवाणी  के  इस आधार पर ज्योतिष परामर्श केंद्र तक खोल लिए हैं
 
उत्तर ..........बिलकुल गलत बात है , मैं शुरुआत से ही इलेश को फोलो कर रही थी , मैंने उसके सारे बैंक खातों को फोलो किया, राम और रवि भाइयों को टोरंटो भेजा उसकी संपत्ति को फोलो करवाया , ऐसे ही उन्हें अपना वर नहीं चुना मैंने .
 
प्रश्न .......मनमोहन ने आपसे शादी करने से क्यूँ इनकार किया ?
 
उत्तर ......मैं जब उसके साथ ऋषिकेश गयी तो मैंने उसके घर जाकर, सिर पर पल्लू रखकर , रसोई में जाकर ,सिल बट्टे पर  मसाला पीसने की इच्छा जाहिर की थी , लेकिन वह मुझे एक षडयंत्र के तहत गंगाजी ले गया कि पहले पवित्र नदी में स्नान कर लूँ तब रसोई में जाऊं , मैं उसकी बातों में आ गयी , जैसे ही मैंने पानी में डुबकी लगाकर बाहर निकली , मेरा मेकप विहीन चेहरा देखकर वह नदी में डूब गया , बड़ी मुश्किल से उसे बाहर निकाला तो वह बेहोशी में बड़बड़ाने  लगा कि "मैं तुमसे शादी नहीं कर सकता"
 
प्रश्न ........आपने घोषणा की थी कि यह कोई शो नहीं है , सच में स्वयंवर है , फिर वरमाला के बदले सिर्फ सगाई क्यूँ करी ?
 
उत्तर .......अभी मैं और इलेश जी एक दूसरे को समझना चाहते हैं
 
प्रश्न ...........वैसे तो जिन्दगी बीत जाती है तब भी पति पत्नी एक दूसरे को समझ नहीं पाते है , क्या एन .डी . टी . वी . ने इसके लिए कोई नया फार्मूला इजाद किया है ?
 
उत्तर .....दरअसल ये अन्दर की बात है कि अभी इलेश ने मुझे बिना मेकप के देखा नहीं है , मैं मनमोहन वाले वाकये से घबरा गयी थी इसीलिए ऐसा कदम उठाया .
 
प्रश्न ........आपको मनमोहन की एकमात्र दोस्त पर एतराज़ था , और इलेश तो सात गर्ल फ्रेंड छोड़ चुका है , फिर आप कैसे तैयार हो गईं ?
 
उत्तर ....दोस्त शब्द निहायत ही पिछड़ा हुआ है , गर्ल फ्रेंड कहते ही मुँह में रसगुल्ले की मिठास आ जाती है वैसे भी एक दोस्त के मुकाबले सात गर्ल फ्रेंड होना इलेश जी का हाई स्टेटस और रुतबे को बताता है .
 
प्रश्न ........आपने कहा था कि आप सच्चे प्यार की तलाश में हैं , आपको पैसा नहीं चाहिए , लेकिन सारे गरीब प्रत्याशियों को आपने शुरू में ही बाहर का रास्ता दिखा दिया था ?
 
उत्तर .........देखिये , सच्चे प्यार को बस महसूस किया जा सकता है , और दौलत प्यार की जननी है , वह सच्चा प्यार कदापि नहीं हो सकता जो ब्यूटी पार्लर का खर्चा ना उठा पाए , नियाग्रा फाल्स ना ले जाए पाए, पूरा पिक्चर हाल बुक ना करा पाए , वह किस काम का ?, गरीबी में रहने से सच्चे प्यार की फीलिंग्स नहीं आ पाती हैं .
 
प्रश्न .........आपके ऊपर यह इल्जाम लगता आया है कि आप नौटंकी बहुत करती है , अपनी तकलीफों और गरीबी को ग्लेमराइस करती हैं लोगों की सहानुभूति अर्जित करने के लिए आँसू बहती हैं .
 
उत्तर ........मैंने बहुत दुःख उठाये हैं , चाहती तो और भी कोई ढंग का या  मेहनत का  काम कर सकती थी , लेकिन उनमें मेरे पसंदीदा संघर्ष की गुंजाईश नहीं निकल पा रही थी , इसीलिए मैंने बेचलर पार्टियों में नाच करा , कपडे उतारे , स्टेज शो किये , तब जाकर लोगों को महसूस हुआ कि ये लडकी कितने संघर्ष करती है , पेट की खातिर कितने दुःख उठाती है .
 
प्रश्न .........क्या कारण है कि जब आप इलेश के गले में जयमाल डाल रही थी तो उसके घरवालों की अपेक्षा  मानस और क्षितिज के घरवाले ज्यादा खुश नज़र आ रहे थे ?
 
उत्तर ........{रोने लगती है} हे जीसस ! इन्हें माफ़ करना  , ये  पत्रकार नहीं जानते कि ये क्या कह रहे हैं .
 
प्रश्न .........आपका अंग्रेजी में हाथ तंग है और इलेश का हिन्दी में ...आप दोनों के बीच संवाद कैसे होगा ?
 
उत्तर .......सच्चा प्यार भाषा का मोहताज नहीं होता , मैं इलेश के दिल की भाषा पढ़ सकती हूँ .
 
प्रश्न ..........लेकिन प्यार की भाषा तो और दूल्हे भी बोल रहे थे जिन्हें आपने रिजेक्ट कर दिया था?
 
उत्तर .......हाँ ...लेकिन उनका हाथ रूपये - पैसे के मामले में भी तंग था , जो मैं बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं कर सकती .
 
प्रश्न .......आप हिन्दू परिवार से हैं और तेंतीस करोड़ देवी - देवताओं को छोड़कर आप जीसस की और मुड़ गईं , कोई ख़ास कारण ?
 
उत्तर .......पहले जब मैं बात बात में  हाय राम ! या हे भगवान् ! कहती थी तो लोग मुझे जाहिल समझते थे , जबसे मैंने आँखें चौड़ी करके ओ जीसस ! ओ गोड ! कहने लगी , पब्लिक  ने मुझे इज्ज़त देनी स्टार्ट कर दी.
 
प्रश्न .........दर्शक कहते हैं कि आपने उन्हें इतने हफ्तों तक बेवकूफ बनाया .
 
उत्तर ..........ओ गोड ! ऐसा कैसे कह सकते हैं वे ?मैंने इतने हफ्तों तक नॉन स्टाप मनोरंजन परोसा , लोगों ने सच का सामना , कॉमेडी सर्कस , लाफ्टर शो , हँस बलिये छोड़कर स्वयंवर को देखा , मैं रोती थी तो दर्शक हँस पड़ते थे , मेरी नित नई अदाओं और डायलोग सुनकर लोग हंसते हंसते लोट - पोट हो जाया  करते थे , कईयों को तो हार्ट अटैक आ गया था , मैंने हिन्दुस्तानी पुरुषों को यह बताया कि हम औरतें हर तरह के कपडों में अंग प्रदर्शन की गुंजाईश निकाल ही लेती है , चाहे वह साड़ी हो , शलवार  सूट  हो या फिर जींस टॉप ...अरे लोगों ने फैशन टी . वी . नहीं देखा इतने दिन , इससे ज्यादा मनोरंजन और क्या हो सकता है ? बताइए ?
 
प्रश्न ........एक वर अश्विन ने जब आपसे आपके पुराने प्रेमी अभिषेक और आपके संबंधों के बारे में जानना चाहा तो आप भड़क उठीं और उसे बाहर कर दिया था , जबकि आपने पहले कहा था कि आपका जीवन खुली किताब है और कोई भी आपसे कुछ भी पूछ सकता है क्यूँ ?
 
उत्तर .....मैं एक भारतीय नारी हूँ , मैंने अपनी मर्यादा कभी क्रॉस नहीं की , मैं और अभिषेक एक साथ रहते ज़रूर थे क्यूंकि मुंबई में मकान बहुत मंहगे है , हम दोनों किराया बाँट लेते थे, इससे काफ़ी बचत हो जाती थी.
 
प्रश्न .......'किस' का आपके जीवन में किस तरह से योगदान है ?
 
उत्तर .......'किस' ऑफ स्क्रीन दिया जाए तो मुझे कोई आपत्ति नहीं होती , पहले मीका ने जब एक बार मेरा किस लिया था तो मैं हक्की - बक्की रह गयी थी , मैं सोच रही थी कि उसे थेंक  यू कहूँ , तभी उसने दुबारा मेरा किस ले लिया , तभी मेरी नज़र कैमरे  पर पड़ी और मैं शोक्ड  रह गई, और उसके विरुद्ध  मुकदमा दर्ज करा दिया ,और फिर स्वयंवर में लव खन्ना ने वही ओन स्क्रीन किस वाली गलती दोहरा दी , और हमेशा की तरह मैंने उसी समय उसका विरोध नहीं किया , लेकिन और दूल्हों ख़ास तौर से इलेश जी के एतराज़ करने पर उसे बाहर कर दिया , वैसे मैंने उसे स्टेंड बाय में रखा हुआ है.क्या पता कब उसकी ज़रुरत पड़ जाए .
 
 चलिए राखी जी आप जल्दी से जल्दी, एक बार फिर से शादी की नौटंकी करें , टी . आर . पी बढ़ाएं, लोगों का इसी तरह से मनोरंजन करें ......
 
राखी .....मैं चली मैं चली , देखो टोरंटो की गली, मुझे ढूंढें ना कोई ......

46 टिप्‍पणियां:

  1. gazab ki bunaavat
    taralta aur taraavat
    ___________hasya -vyangya ki ye shaili mubaaraq !

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक गरीब, संस्कारशील लड़की की व्यथा सुन मन भर आया। :-)
    चलिए अब तो वह सात गर्लफ्रेंड पार किसी गली में जा रही, कोई ढ़ूँढ़े ना उसे …

    उत्तर देंहटाएं
  3. maza aa gaya :)
    waise hamne bhi poora swayamwar dekha aur uski TRP badhaai, kya karen..entertainment to hota tha na..

    उत्तर देंहटाएं
  4. मनोरंजन से भरपूर बढिया व्यंग्य...
    मज़ा आ गया जी फुल्ल बटा फुल्ल

    उत्तर देंहटाएं
  5. gazab ka weave kiya hai aapne........ hanste hanste mujhe aisa thaska laga ki naak ke raste paani aa gaya...... jo ki dus minute pehle hi piya tha......

    haalaanki......... maine swayamwar nahi dekha...... lekin ghar mein sunta daily tha....... par isey padh ke poora serial mere aankhon ke saamne ghoom raha hai.......


    mazaa aa gaya padh ke.......

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक गरमागर्म मुलाकात है
    राखी से ठंडी मुलाकात का
    वैसे भी नहीं है कोई फायदा
    जबकि टी आर पी बटोरने में
    नहीं है नियत कोई कायदा।

    मुझे तो स्‍वयंवर से अधिक
    स्‍वयंइंटरव्‍यू अधिक अच्‍छा लगा है
    इसमें कहा गया एक एक जवाब
    बिल्‍कुल सच का सामना लगा है।

    राखी से पहले राखी का हुड़दंग
    भर गया न जाने कितने मन में
    मनों टनों हसरंग जलतरंग हास्‍यतरंग।

    उत्तर देंहटाएं
  7. राखी का साक्षात्कार ...एक दम धाँसू...और साथ में सच का सामना भी हो गया ...एक के साथ एक फ्री ...वाह वाह शेफाली जी.क्या कहने.

    उत्तर देंहटाएं
  8. नमस्कार शेफाली जी बहुत खूब....... क्या साक्षात्कार लिया आपने राखी का मजा आगया बहुत पसंद आया ,,,क्या कहू
    सादर
    प्रवीण पथिक
    9971969084

    उत्तर देंहटाएं
  9. मस्त इंटरव्यू .........अभी मैं इसकी trp बढ़वाती हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  10. I think I could not understand why at all this topic made you interseted to write?
    Regards
    Chadnar Meher
    lifemazedar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  11. मानस के मोती को प्राप्‍त ई मेल संदेश :-

    बहुत खूब .....
    बधाई, इतने , अच्‍छे और बेबाक इंटरव्‍यू के लिए

    दीप्ति गुप्‍ता

    उत्तर देंहटाएं
  12. kya baat hai..............bahut khoob baise naine swamber ka ek bhi episode nahi dekha magar aapne sara dhikha diya......... wakayi lazabab hai..............is se aapke chenel{blog} ki TRP jarur badegi........ waqyi bhaut sundar hai..........

    उत्तर देंहटाएं
  13. राखी का स्वयंबर
    जब लाज शर्म, ईमान धर्म - सब पैसा होजायेगा,
    तब तब ऐसी बेसरम फिल्मी रखीया और उनके शोहदे,
    गरिमा मय भारतीयनारी शब्द का दुरूपयोग करती हुई ,
    पैसा और सोहरत के लिए कुछ भी करेंगी.
    -स्वामी श्री परम चेतनानन्द जी (स्वामी श्री जी )

    उत्तर देंहटाएं
  14. डॉ.रूपचंद मयंक जी
    यदि आप का तात्पर्य श्री राम की सीता से है,
    तो आप इस ब्लॉग के सुधि पाठको से छमा मांगे,
    सीता हर युग में वही सीता रहेंगी,
    और राखी जैसे बेशर्म हर युग में बेशर्म ही रहेंगे..
    स्वामी श्री परमचेतनानन्द जी(स्वामी श्री जी )

    उत्तर देंहटाएं
  15. नमश्कार!
    आपने बहुत ही अच्छा लिखा है
    यह पढ़कर अगर राखी जी को शर्म आ गयी तो बहुत अच्छी बात है,
    लेकिन ऐसा होगा नहीं क्योकि वो तो बहुत ही बेशरम लड़की अर्थात औरत है

    उत्तर देंहटाएं
  16. हमारे देश का यही तो दुरभाग्य है
    जिसको खड्डे मे दबा देना चाहिये
    उसे लोग आसमान पे उठा लेते है

    उत्तर देंहटाएं
  17. good one, nice IV, it present ur true tribute to ndtv imazine rakhi ka swayamwar. dost nahin girlfriend ke naam se muah mein rasgullah jaisa swad aata hai

    उत्तर देंहटाएं
  18. आपने व्यंग्य तो लाजबाब किया है, लेकिन सब कुछ जितनी बारीकी से आपने लिखा है, लगता है आप "राखी के स्वयंवर" के ईमानदार दर्शको में से एक रही है :) | मेरे हिसाब से तो ये शो नकारात्मक आलोचना के काबिल भी नहीं |

    उत्तर देंहटाएं
  19. shefali ji
    aap ki kalam kamal ki prastiti bahut rochak lagi.is andazebayan ko banaye rakhe. apka yah chulbulapan apki TRP bada sakta hai. badhai!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  20. waah... kya baat hai
    ek to drama rakhi ka us par aapka yeh zabardast interview. yakeen maniye.. mazaa aa gaya..

    उत्तर देंहटाएं
  21. yeh natak yug hain.rakhee ne samaz liya hain ki duniya ko kese moorkh banaya ja sakata hain.apni garabi apne jajbat sub beecho.bholi janta ko shaadi sapana dikhio aur apni TRP badhio.

    उत्तर देंहटाएं
  22. आपके व्यंग में धार है शेफाली जीऔर minute observation भी ,इसे बनाये रखियेगा ! बहुत खूब !

    उत्तर देंहटाएं
  23. just amazing , kya khoob likha hai ji , padhkar jhoom gaya ji , bus badhai hi badhai


    regards

    vijay
    please read my new poem " झील" on www.poemsofvijay.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  24. haa!haaa!!
    और अभी तक राखी का खंडन भी नहीं आया कहीं...

    उत्तर देंहटाएं
  25. वाह शेफाली जी ,
    बेबाक INTERVIEW पद कर मजा आ गया , किन्तु मनमोहन ने जो ऋषिकेश मै किया वह उचित था? उसकी भावः भागिमा जो ऋषिकेश मै उसके चहेरे पर लक्षित हो रही थी किसी भी दृष्टि से उचित अथवा सौम्य नहीं थी , राखी ने तो नौटंकी कि थी किन्तु मनमोहन ने अपने साथ साथ किसी सीधी सादी अंजलि को भी घसीट लिया जो शायद इस पर्पेक्ष मै ऋषिकेश कैसे जगह के लिए उचित नहीं प्रतीत नहीं होता है,
    आशा है इस टिपण्णी का बुरा नहीं मानेगी.
    आपका अनुज
    अरविन्द

    उत्तर देंहटाएं
  26. ye to wakai main rakhi ne kaha tha ki main ilesh ko bina make up ke bhi dikhana chahti hoon ki main kaisi hoon?

    to vyang hote hue bhi bahut sarthat aur vastvikta ke nazdeek hai ye...

    उत्तर देंहटाएं
  27. जय हो ! विजय हो। आज फ़िर पढा! बहुत अच्छा लेख!

    उत्तर देंहटाएं
  28. यह शानदार साक्षात्कार तो मुझसे छूट ही गया था। बहुत आनंद आया। राखी का अंग्रेजी में तो हाथ तंग ही है, आपके प्रश्नों की व्यंजना समझने में उसका मस्तिष्क भी तंग ही लगा। मतलब, आपने जैसा शब्दचित्र उकेरा है उसमें।

    उत्तर देंहटाएं