सोमवार, 21 सितंबर 2009

है कोई ऐसा अनुवादक

बुकर पुरकार का ऐसा अनुवाद शायद ही कोई अनुवादक कर पाए ....हुआ यह कि कल हमारे क्षेत्र में   बी .एड यानी की भावी अध्यापकों के लिए  प्रवेश परीक्षा थी ...प्रश्नपत्र में यूँ तो अनेक गलतियां थी ...लेकिन सबसे बड़ी गलती जिस पर आप ही बताइए पेपर सेट करने वाले को क्या कहा जाए .....
पेपर में लिखा था 'पुस्तक यानि [बुकर] पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता है '
 

20 टिप्‍पणियां:

  1. जब तक प्रवेशार्थी अध्यापक बनेगा तब तक संशोधन करवा लिया जायेगा चिंता छोड़ दें ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. लगता है अनुवादक साहब अपने विषय क्षेत्र के अलावा ज्ञान की बाकी सभी विधाओं में शून्य हैं और इसी लिए शब्दशः अनुवाद की जिद पर अड़ गए. क्या कहा जाये?

    उत्तर देंहटाएं
  3. पुरस्कार किसी क्षेत्र की हो मिलने वाली हो तो बताऊँ. वैसे प्रश्न गंभीर है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. गम्भीर प्रश्न ................और क्या कहा जाय..........

    उत्तर देंहटाएं
  5. गलती बेचारे पेपर सैटर की भी नहीं है उसने
    Book Booker Bookest के हिसाब से सोचा होगा.

    उत्तर देंहटाएं
  6. यह सब सिफारशों के कारण होता है.पेपर सेटर ,प्रिंटर ,अधिकारी सब की मिली भगत है

    उत्तर देंहटाएं
  7. का मा साब बस एक र ही छूट गया था...तो इससे कौन सा र से रेल छूट गयी..उन्होंने सोचा होगा जिसे बूकर पता होगा उसे पुस्तकर भी पता होगा ही..बेचारे बूकर वाले..पता चला तो डूब जायेंगे..शायद अगली बार का पुरस्कार भी एक्स्टैंड ..माने स्थगित कर दें जी...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बड़ी बड़ी परीक्षाओं में छोटी छोटी गलतियां होती रहती है। क्रिएटिविटी कहां नहीं होती। पेपर बनाने वालों ने भी क्रिएटीविटी करनी चाही होगी। आपकी पारखी नजर ने उसको पकड़ लिया।

    उत्तर देंहटाएं
  9. अनुवाद के स्तर पर ऐसी हास्यास्पद गलतियां कई जगह देखने को मिल जाती है. मुझे याद है एक अखबार में इंडियन ओरिजिन के राष्ट्रपति को भारतीय बताया गया था जबकि उस जगह इंडियन से तात्पर्य लातीनी अमेरिकी देशों में रहने वाले मूल लोगों से था जिन्हें इंडियन कहा जाता है.

    उत्तर देंहटाएं
  10. क्षेत्र मेरे विचार से
    अमेरिका ही होगा
    या होगा कोई
    विलायती क्षेत्र।

    उत्तर देंहटाएं
  11. मैं एक सरकारी विभाग में अनुवादक हूँ और इसमें सुधार कर देता हूँ.
    'बुकर प्राइज़' का सही अनुवाद होना चाहिए 'पुस्तकवाले का पुरस्कार'.
    :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. अनाड़ी का खेलना..खेल का सत्यानाश...या फिर सवा सत्यानाश?...

    आपके हिसाब से क्या सही रहेगा?...

    उत्तर देंहटाएं
  13. ई सब कमाल अनुवाद में होते रहता है...अनुवादक ने समझाने की पूरी कोशिश की है...और सबसे बड़ी बात है कि परीक्षा देने वाले लोग इस बात को समझ गये हैं कि क्या पूछा जा रहा है..एक बार इंटर में सभी छात्रों को क्लास में अनुवाद करने को कहा गया था...चैप्टर था गांधी जी इन लंडन....एक लड़के ने इसका अनुवाद किया था गांधी जी में लंदन....

    उत्तर देंहटाएं
  14. प्रभु की दया है कि बुकर को सिर्फ पुस्तक लिखा. कई तो उसे "पुस्तककार" लिख देते!!

    हिन्दी को ऐसे सेवकों से बचाना पडेगा!!

    सस्नेह -- शास्त्री

    हिन्दी ही हिन्दुस्तान को एक सूत्र में पिरो सकती है
    http://www.Sarathi.info

    उत्तर देंहटाएं