गुरुवार, 21 नवंबर 2013

अच्छा है इन दिनों.......

अच्छा है इन दिनों....... 
 
तहलका, हल्का हो गया । तेजपाल का तेज निकल गया । एक ज़रा सी की थी गलती , कोई और सज़ा  देगा क्या  ?  क़ुबूल कर लिया गुनाह अपना, छह महीने की ले ली छुट्टी , इतनी सजा कम है क्या ?
 
''आप'' ने कर दिए आप से, ढेर सारे चुनावी वादे । ख़त्म होगा भ्रष्टाचार अब जड़ से , बिजली, पानी के बिल होंगे आधे । 
 
चेले की रफ़्तार से, चंदे की भरमार से, अन्ना जी नाराज़ हैं, सिक्कों की छनकार से । हिसाब मांग रहे पाई -पाई । अब जाकर सरकार को कुछ राहत आई । सांस में अटकी सांस वापिस लौट के आई ।
 
दक्षिण में हेलेन के तूफ़ान की आहट है । उत्तर में रामदेव की आफत है । एक दिन में मुक़दमे इक्यासी, इसको कहते योग सियासी । 
 
जिनको  सम्मन चाहिए, उनको सम्मान मिल गया । जेल से भी लड़ सकेंगे चुनाव मान्यवर, अब ऐसा वरदान मिल गया । 
 
मुम्बई में शुरू हो गया महिलाओं का बैंक पहला । ए. टी. एम. के अंदर हुआ बंगलुरु में हमला । 
जासूसी में टूट गए रिकॉर्ड सारे अगले - पिछले  । ये साहेब तो छुपे हुए रुस्तम निकले । 
 
शुक्र है ! फिर से क्रिकेट को, मिल गया अपना भगवान् । उनका जाना था, इनका आना था । बिन भक्तों के एक भी दिन, रह न सके करुणानिधान ।   
 
रैलियों के दिन आ गए । एक - दूसरे के बैरियों के दिन आ गए । आँखें टी वी पर चिपकाए हुए हम, ज़ुबानी जंग देखेंगे । लोकतंत्र के नित नए, निराले रंग देखेंगे ।    [ मास्टरनी ]
 
 
 
   
 
 

5 टिप्‍पणियां:

  1. ये तो पूरा न्यूज बुलेटिन ही प्रसारित कर दिया आपने, पर पेश करने की धार अनोखी है. बहुत सुंदर.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आप की इस प्रविष्टि की चर्चा रविवार, दिनांक :- 24/11/2013 को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}" चर्चा अंक - 50- पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें, सादर ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आप की इस प्रविष्टि की चर्चा रविवार, दिनांक :- 24/11/2013 को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}http://hindibloggerscaupala.blogspot.in/" चर्चा अंक - 50- पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें, सादर ....

    उत्तर देंहटाएं