गुरुवार, 28 नवंबर 2013

आओ गुडलक निकालें .......

आओ गुडलक निकालें ....... 
 
''आप'' -------  आप के ऊपर कॉन्ग्रेस और भाजपा दोनों की दशा एक साथ आई है, जिस कारण से आप की दुर्दशा होने की प्रबल सम्भावना है । आपकी ज़ुबान पर राहु बैठा रहेगा जो किसी न किसी प्रकार कष्ट देता रहेगा । याद रखें  ''ईश्वर और स्टिंग किसी भी भेस में आ सकता है ''। इस दौरान लोगों की सेवा अवश्य करें पर मेवा न लें । सबको अपनी फूंक से उड़ाने की कोशिश करें, लेकिन स्वयं हर कदम फूंक - फूंक कर रखें । घर के बुज़ुर्ग की उपेक्षा न करें । उनकी सेहत का ख्याल रखें अन्यथा वे आपकी सेहत बिगाड़ सकते हैं । 
 
क्या करें ---    इस अवधि में दिन के चौबीस घंटों में से अठारह घंटे सिर्फ '' भ्रष्टाचार'' और ''लोकपाल'' का जाप करें । इनके अलावा कोई और शब्द ज़ुबान पर न लाएं । ध्यान रहे सोते समय भी मुंह खुला न रहने पाए ।   
 
क्या न करें ---  चुनाव होने तक आप अपने बाप पर भी भरोसा न करें । रुपया, पैसा  या  ''हो जाएगा'' जैसे शब्दों से यथासम्भव परहेज़ करें ।


तेजपाल  ----- पिछले कई सालों तक आपकी दृष्टि कन्या राशि वाले जातकों पर पडी हुई थी, लेकिन अब आपके ग्रह चाल उल्टी चल रही है । आजकल आपके ऊपर कन्या राशि की वक्र दृष्टि पड़ रही है, जो आने वाले समय में आपको बहुत कष्ट पहुँचाने वाली है । दाम्पत्य जीवन में कटुता रहेगी । आपके करीबी मित्र आपके साथ विश्वासघात करेंगे । स्त्री पक्ष से सहयोग मिलेगा । इस अवधि में आप धैर्य न खोएं। उच्च संपर्कों का लाभ मिलेगा । आपका कोई भी कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा । 
 
क्या करें ----   इस दौरान आप छह महीने तक सुबह - शाम  चींटियों को चीनी खिलाएं । ध्यान रहे चींटियाँ छोटी और काली हों, लाल नही । लाल चींटियाँ चीनी डाले जाने पर काट भी सकती हैं । 
 
क्या न करें  ---- इस अवधि में ना मछली खाएं, ना उन्हें किसी प्रकार से चारा डालने की कोशिश करें । अगर किसी को चारा डाला हुआ है तो उसे वापिस खींच लें । चिड़ियों को दाना डाल सकते हैं, लेकिन पहले उनके परों को भली प्रकार से तौल लें । 
 
  
 राहुल गांधी -----आपकी राशि पर राहु की महादशा चल रही है । इस दौरान आपकी हर बात का उल्टा अर्थ लगाया जाएगा । इसके अतिरिक्त '' सिंह '' के ऊपर आपकी दशा या फिर कह सकते हैं कि आपके ऊपर '' सिंह  ''राशि की दशा पिछले नौ साल से चल रही है । उम्मीद है कि आगामी वर्ष में आप दोनों इस दशा से मुक्त हो जाएंगे । इस कारण से माता के स्वास्थ्य को कष्ट हो सकता है । यूँ तो आपने व आपके पूरे परिवार ने ज़िंदगी भर चुपड़ी रोटियां खाईं हैं और खिलाईं भीं हैं, लेकिन इस दौरान आप स्वयं सूखी रोटी खाएं और चुपड़ी रोटी दान करें । भाई या बहिन अचल संपत्ति का क्रय कर सकते हैं । 

क्या करें ----रैलियों में भाषण देते समय भावनाओं पर काबू रखें । भावावेग में न खुद बहें, बल्कि सुनने वालों को बहाएं । 
 
क्या न करें ---- इस अवधि में क्रोध न करें । क्रोध की अधिकता, आपके या वोटर , दोनों में से किसके लिए हानिकारक होगी, कहा नहीं जा सकता  । बाहर का भोजन स्वास्थ्य के लिए हितकर नहीं होगा ।
 
 
मोदी -------- आपकी राशि पर इस समय वृहस्पति की दशा चल रही है । वृहस्पति ज्ञान के देवता भी हैं । यह समय आपके सामान्य ज्ञान की परीक्षा का है । विद्याभ्यास के लिए अनुकूल समय है । मित्रों का सहयोग लाभकारी रहेगा । प्रेम प्रसंगों के लिए समय अनुकूल नहीं है । शत्रु पक्ष पर प्रभाव बना रहेगा । वाणी पर संयम बनाये रखना आपके लिए हितकर नहीं होगा । 

क्या करें --- इस दौरान आप किसी भी रैली में भाषण देने से पहले १००८ बार ''ऊँ वृहस्पति देवाय नमः ''का जाप करें, इससे आपके सामान्य ज्ञान में अभूतपूर्व वृद्धि हो जाएगी । विरोधियों पर बिना सबूत के आरोप लगाते रहें । सफलता मिलेगी ।
 
क्या न करें --- आपके ग्रह - नक्षत्र आपकी राशि का पीछा कर रहे हैं अतः आप किसी का पीछा न करें । उपयुक्त समय आने की प्रतीक्षा करें । 

 
महिलाएं ------- महिलाओं के ऊपर राहु, केतु, शनि सबकी दशा एक साथ चल रही है, जो आने वाले कई सालों में भी ऐसी ही रहने वाली है । महिलाएं जिसकी भी ओर नज़र उठाकर देखेंगी वही नर निकल जाएगा । 
.
क्या करें ---- पैसा निकालना हो तो बैंक में जाकर लाइन लगाएं या अपने पति की जेब में हाथ साफ़ करें । ऊपर चढ़ना है तो किसी को सीढ़ी न बनाएं बल्कि स्वयं सीढ़ियों का उपयोग करना सीखें । इससे सी. डी. बनने की सम्भावनाएं कम हो जाएँगी एवं स्वास्थ्य और इज्जत दोनों बरक़रार रहेंगे । 
 
क्या न करें -------शादीशुदा महिलाएं इस दौरान ए टी एम् न जाएं । इससे फ़िज़ूलखर्ची पर नियंत्रण रहेगा । कुंवारी कन्याएं लिफ्ट का उपयोग भूल कर भी न करें । 


 
आम आदमी ------ आम आदमी की राशि का स्वामी कोई नहीं होता । बल्कि उसकी तो राशि के होने में भी संदेह है । आम आदमी अपना स्वामी खुद होता है । राहु, केतु इत्यादि उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाते हैं । उसका बिगाड़ कोई कर सकता है तो वह है आलू, टमाटर, प्याज या आटा और दाल । लगभग पूरे वर्ष आम आदमी को ख़ास आदमियों के झक्कास बयानों की वजह से मनोरंजन के भरपूर अवसर प्राप्त होते रहेंगे । 
  
क्या करें ---- आम आदमी को कुछ भी करने की ज़रूरत नहीं है । इधर हर पार्टी उसी के लिए सोच रही है, और दुबली हो रही है । आम आदमी सुबह, शाम नमो चालीसा का पाठ करते रहे । हमेशा चढ़ते सूरज को अर्घ्य दे , और नमस्कार करे । बहते पानी में हाथ धोए चाहे पूरा नहा ले, उसका कल्याण न कभी हुआ है न कभी होगा । 
 
क्या न करें -----वोट देने से पहले नोट को देखें, नोटा बटन को नहीं । नोट आपका कल्याण कर सकता है, नोटा बटन नहीं । 


 
सरकार ------ आपकी सरकार का स्वामी [ सुब्रह्मण्यम ] आजकल अस्त चल रहा है, इसलिए निश्चिन्त रहें ।  याद रखें मौन एक ब्रह्मास्त्र है । आपकी शान्ति से सभी समस्याओं का समाधान स्वयं हो जाएगा । ईश्वर पर भरोसा रखें, जैसे अभी तक ईश्वर ने आपके ऊपर और आपने ईश्वर के ऊपर रखा हुआ है । उसके सहारे इस साल भी नैया पार हो जाएगी । 
 
क्या करें ----- क्लीन चिटों से विरोधियों को चारों खाने चित्त कर दें । चिटें देते समय चित्त में ज़रा भी विकार न रखें । सरकारी संपत्ति समझकर उन्हें मुक्त हस्त से दान करें । तोता पालें लेकिन उसे राम - राम न सिखाएं । 
 
क्या न करें ----घोटालों की जांच जैसे व्यर्थ के कार्यों में अपनी ऊर्जा एवं समय को नष्ट न करें, उन्हें २०१४ में होने वाले आम चुनावों के लिए बचाकर रखें ।    
[मास्टरनी ]
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

13 टिप्‍पणियां:

  1. कल 29/11/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  2. महिलाएं जिसकी भी ओर नज़र उठाकर देखेंगी वही नर निकल जाएगा ।

    >>> अल्टीमेट व्यंग्य!

    उत्तर देंहटाएं
  3. आशा है सभी बाउ लोग ध्‍यान देंगे. ध्‍यान न देंगे तो अपुन को क्‍या, सवारि‍यां ख़ुद ज़ि‍म्‍मेदार हैं

    उत्तर देंहटाएं
  4. धीरेन्द्र पाण्डेयगुरुवार, नवंबर 28, 2013 8:35:00 pm

    मास्टरनी नही मोज़े वाले बाई

    उत्तर देंहटाएं
  5. मेरे आसपास के सारे अन्ना जो अब मोदी होने की कोशिश कर रहे हैं उनका कुछ नहीं कर सकता !

    उत्तर देंहटाएं
  6. महिलाएं जिसकी भी ओर नज़र उठाकर देखेंगी वही नर निकल जाएगा ।
    This is superb... ha ha ha ha .

    उत्तर देंहटाएं
  7. ये मारा....ये मारा .....क्या धांसू ....मारा है .....कह कर उछलने को मन हुआ ...जब से पढ़ा और जितनी बार पढ़ा ..... :-)
    मास्टरनी जी चरण कहँ हैं आपके जरा देना तो ..... :-) छूना है ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. पढ़कर हँसते-हँसते लोट पोट हुए बिना नहीं रहा जा सकता, जितनी तारीफ़ की जाए कम है ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. पढ़कर हँसते-हँसते लोट पोट हुए बिना नहीं रहा जा सकता, जितनी तारीफ़ की जाए कम है ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. पढ़कर हँसते-हँसते लोट पोट हुए बिना नहीं रहा जा सकता, जितनी तारीफ़ की जाए कम है ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. क्या करें क्या ना करें? क्या गजब की सलाह दी है.:)

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बड़ी ही उपयोगी सलाह, सारी पार्टियों के लिये।

    उत्तर देंहटाएं